Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग-समीक्षा के दौरान कम प्रगति पर सुपरवाइजर को नोटिस जारी करने के दिए निर्देश

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

शिवपुरी, कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने मंगलवार को स्वास्थ्य एवं महिला बाल विकास विभाग की समीक्षा की। बैठक में समस्त बीएमओ और सीडीपीओ भी उपस्थित रहे।
कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने निर्देश दिए हैं कि जिले के सहरिया आदिवासी बाहुल्य ग्रामों में नियमित रूप से बच्चों का वजन ऊंचाई आदि को मॉनिटर किया जाए। जिन सुपरवाइजर द्वारा कार्य में लापरवाही की गई है, उन्हें नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। इसके अलावा अति गंभीर कुपोषित बच्चों को चिन्हित करके एनआरसी में भर्ती करने के निर्देश दिए। एनआरसी प्रभारी डॉक्टर रामसुंदर को निर्देश दिए हैं। एनआरसी में सही ढंग से निगरानी की जाए। पूरा स्टाफ सतर्क रहे और सीएमएचओ एवं जिला कार्यक्रम अधिकारी के संपर्क में रहें। पिछले 4 से 6 माह में जहां एक भी कुपोषित बच्चा नहीं पाया गया है ऐसे आंगनबाड़ी केंद्रों की जांच विभिन्न अधिकारियों एवं आजीविका मिशन के समूह द्वारा भी कराई जाएगी। जिनके काम में लापरवाही होगी, उन पर कार्यवाही की जाएगी।
बैठक में सहरिया बाहुल्य ग्रामों में स्वास्थ्य शिविर की समीक्षा की गई। सीएमएचओ डॉ.पवन जैन ने बताया कि इस वर्ष लगभग 16000 से अधिक लोगों को चिन्हित कर टीवी की जांच की गई, जिसमें 200 मरीजों को चिन्हित किया गया है। रेड क्रॉस के द्वारा दी जाने वाली फूड बास्केट भी उन्हें नियमित रूप से दी जा रही है। कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने निर्देश दिए हैं। सहरिया बाहुल्य क्षेत्र में अभियान चलाकर काम करने की जरूरत है। ऐसे पॉकेट एरिया को चिन्हित किया जाए, जहां विशेष फोकस किया जा सके। बैठक में जिला पंचायत सीईओ उमराव मरावी, एडीएम विवेक रघुवंशी सहित महिला एवं बाल विकास विभाग और स्वास्थ्य विभाग का अमला मौजूद रहा।

Leave a Comment

  • UPSE Coaching
What does "money" mean to you?
  • Add your answer