Search
Close this search box.
Search
Close this search box.

नवरात्रि 2023: इस वजह से किया था मां दुर्गा ने कात्यायनी स्वरूप धारण, ये चीज है सबसे प्रिय

👇खबर सुनने के लिए प्ले बटन दबाएं

SHIVPURI, 20 oct 2023 : देशभर में शारदीय नवरात्रि बड़ी ही धूमधाम से मनाई जा रही हैं.  पिछोर में भी मॉ बीजोन माता के सभी मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है. मॉ बीजाााासेन माता मंदिर के पुजारी ने बताया की शारदीय नवरात्रि का आज छठा दिन है. इस दिन मां दुर्गा के छठे स्वरूप मां कात्यायनी की पूजा-अर्चना की जाती है. इससे व्यक्ति के विवाह में आ रही सभी परेशानियां दूर हो सकती हैं.

मां कात्यायनी यश और सफलता का प्रतीक हैं.सिंह पर सवार होने वाली देवी मां कात्यायनी, चतुर्भुज हैं. जिन्होंने अपनी दो भुजाओं में कमल और तलवार धारण किया है. एक भुजा वर मुद्रा और दूसरी भुजा अभय मुद्रा में रहती है. मां कात्यायनी कात्यायन ऋषि की पुत्री के रूप में प्रकट हुईं थीं. इस वजह से अनका नाम कात्यायनी पड़ा. मां कात्यायनी की उत्पत्ति अत्याचार का अंत करने के लिए हुआ था.

ऋषि-मुनियों को असुरों के अत्याचार से मुक्ति दिलाने के लिए मां दुर्गा ने कात्यायनी स्वरूप धारण किया. मां कात्यायनी को शहद बहुत प्रिय है, इसलिए उन्हें पूजा के समय शहद का भोग जरूर लगाया जाता है. इससे व्यक्ति को जटिल कार्य में सफलता मिलती है और यश की भी प्राप्ति होती है. इतना ही नहीं विवाह में आ रही बाधा भी दूर हो जाती है. मंदिर के महंत ने बताया सुबह मंगला आरती से ही श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ रही है.

 

Leave a Comment

  • UPSE Coaching
What does "money" mean to you?
  • Add your answer